Vodafone-Idea
Latest Post Tech

Vodafone-Idea अब हो गया है Vi, मर्जर के दो साल बाद बदला नाम।

Vodafone और Idea ने 31 अगस्त 2018 को साझेदारी की थी। उस समय से लेकर अब तक ये दोनों कंपनियां Vodafone-Idea के अपने अलग-अलग पूरे नाम को जोड़कर एक कंपनी के रुप में सामने आई।

लेकिन आज 2 साल बाद इन दोनों कंपनियों ने संयुक्त रुप अपने नाम को बदलकर से Vi कर दिया है । इनका नाम और लोगो दोनों ही नेटवर्क वोडाफोन और आइडिया के शुरुआती अंग्रेजी अक्षरों को मिलाकर बनाया गया है। 

इस नए नाम को वेबसाइट और ऐप पर अपडेट कर दिया गया है और जल्द ही इस नाम से सिम कार्ड्स, बिल, बिलबोर्ड आदि भी बाजार में उपलब्ध होगा।

कंपनी के CEO रविन्दर टक्कर ने नए ब्रांड को लांच करते हुए कहा, “वोडाफोन आइडिया का विलय दो साल पहले हुआ था। हम तबसे दो बड़े नेटवर्क, हमारे लोगों और प्रोसेस के एकीकरण की दिशा में काम कर रहे थे। आज Vi ब्रांड को पेश करते हुए मुझे काफी खुशी हो रही है।”



उन्होनें आगे कहा कि “यह अहम कदम है। इसका साथ ही एकीकरण की प्रक्रिया पूरी हो गई है। उन्होंने कहा कि कंपनी पहले कदम के तौर पर टैरिफ में बढ़ोतरी के लिए तैयार है। नए टैरिफ से कंपनी को एआरपीयू सुधारने में मदद मिलेगी। यह अभी 114 रुपये है जबकि एयरटेल और जियो का एपीआरयू क्रमशः 157 रुपये और 140 रुपये है।”

हाल ही में वोडाफोन आइडिया लिमिटेड को बड़ी राहत देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने समायोजित सकल आय (एजीआर) के बकाये को चुकाने के लिए दस साल का वक्त दिया है। कोर्ट के आदेश के मुताबिक एजीआर का 10 फीसदी कंपनी को चालू वित्त वर्ष में और शेष का भुगतान 10 किस्तों में अगले 10 साल में करना होगा। बता दें कि वोडाफोन आइडिया पर 58,000 करोड़ रुपये से अधिक का एजीआर बकाया है। इसमें से कंपनी ने 7,854 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *